Home Motivational story in hindi Best 5 motivational story hindi कहानिया जो जीवन बदल दे

Best 5 motivational story hindi कहानिया जो जीवन बदल दे

by Sonal Shukla
Best 5 motivational story hindi

Hello everyone स्वागत है, आप सभी का एक बार फिर से हमारी साइट, आज के इस लेख में हम आपको best 5 motivational story in hindi के बारे में बातएंगे जो आपके जीवन में उमंग और आगे बढ़ने का उत्साह पैदा करेगी

दोस्तों हम सभी जीवन में सफल होना चाहते है, सफल शब्द सुनकर ही हमारे जीवन में यानी हमारे अंदर पॉजिटिव एनर्जी आ जाती है. लेकिन अफ़सोस की बात है की कुछ लोग सिर्फ सपने ही देख पाते है, उनके लक्ष्य और सपने कभी भी पुरे नहीं हो पाते है.

इसका मुख्य कारण है, ज्ञान की कमी और ज्ञान कहा से मिलता है, अच्छी बुक्स पड़ कर,अच्छे लोगो के विचार सुनकर, अच्छे लोगो के बिच रहकर, सफल लोगो की जीवनी पढ़कर, motivational blog पड़ कर, मोतीवाश्नल कहानिया पढ़कर हम सभी को ज्ञान मिलता है, लेकिन अधिकतर लोग यह नहीं कर पाते है और अधूरे  असफल हो जाते है.

में आपके लिए इस साइट motivational tips, Success tips और motivational story in hindi  में हर रोज डालता रहता हु ताकि आप मोटीवेट रहे और अपने जीवन का हर सपना पूरा करे, इस लिए आप इस साइट को फॉलो कर लीजिए| इस लेख में आपको best 5 motivational story in hindi के बारे बताएँगे.

Success story in hindi महान लोगो के जीवन की कहनिया| 

6 आदते जो आपको कामयाब बनाए| 

Best motivational story in hindi प्रेरणादायक कहानिया| 

Motivational poem in hindi प्रेरणादायक कविताए 

1. आलस व्यक्ति के जीवन को बर्बाद कर देता है ( Best 5 motivational story hindi )

प्राचीन समय की बात है, एक बार राजा ने अपनी प्रजा के व्यहवहार को जानने के लिए राजा ने रास्ते में एक बड़ा पत्थर रखवा दिया, क्यों की राजा जानना चाहते थे की उनके राज्य के लोग कितने मेहनती है, और कितने आलसी है.

बहुत दिन निकल गए लेकिन किसी ने वह पत्थर रास्ते से हटाने की कोशिश भी नहीं की सभी लोग देखते है और एक तरफ से निकल जाते है. उस रास्ते से राजा के मंत्रियो के साथ साथ कही सारे धनि व्ययापारी भी रास्ते से निकल रहे थे लेकिन किसी ने पत्थर हटवाने की कोशिश नहीं किया.

और सबसे अफ़सोस की बात यह थी की सभी लोग सड़क साफ़ नहीं होने का दोषी राजा को ठहराह रहे थे लेकिन किसी ने पत्थर हटाने की और  हटवाने की हिम्मत तक नहीं की.

कुछ समय बाद एक गरीब मजदुर रास्ते से गुजर रहा था तो उसने देखा की रास्ते में एक बड़ा सा पत्थर पड़ा हुआ है,तो उस मजदुर ने उस पत्थर को हटाने के लिए पूरी ताकत लगाईं और उस पत्थर को कड़ी मेहनत के बाद रास्ते से हटा दिया.

लेकिन उस पत्थर के निचे राजा ने सोने की  मोहरे राखी हुई थी, और एक सन्देश लिखा हुआ था , जो इस पत्थर को रास्ते से हटाएगा  उसको यह मोहरे इनाम दी गई है यह पढ़कर वह मजदुर बहुत प्र्शन हुआ और एक ही दिन में मालामाल हो गया.

Moral this motivational story 

दोस्तों यह motivational story हमे यह शिक्षा देती है की जीवन में कभी भी आलस नहीं करना चाहिए, क्या पता कब आलस की वजह से हमारा किस्मत ख़राब और जीवन में परेशानिया बढ़ जाए.और अपने राजा या किसी दूसरे व्यक्ति पर ब्लेम नहीं करना चाहिए और अपनी खुद की जिम्मेदारी समझना चाहिए क्यों की जहा तक व्यक्ति खुद की जिमेदारियो को नहीं समझता है वह तक सफल हो पाना मुश्किल है.

2. अपने स्वभाव को शांत रखे गुस्सा करने से बचे

एक बार एक लड़का था जिसको स्वभाव बहुत ही खराब था और वह बहुत गुस्सा करता था वह लड़का गुस्से गुस्से में किसी को भी कुछ भी बोल देता था. 1 दिन उस लड़के के पिताजी ने लोहे की किलो का एक डिब्बा दिया और साथ में एक हथोड़ा दिया और अपने बच्चे से बोला कि बेटा तुम यह किले सामने जो दीवार दिख रही है उसमें आपको ठोकनी है.

और साथ में कहा कि जब भी आपको गुस्सा आता है या फिर आप अपना आपा खो देते हो तब आपको एक कील इस दीवार में ठोक नहीं है यानी कि अब जितनी बार गुस्सा करोगे उतने की रात को दीवार में ठोकनी है.

लड़के ने पहले दिन 30 किले उस दीवार में ठोकी है, अगले दिन उस लड़के ने दीवार में 20 किले ठोकी है, उसके अगले दिन बच्चे ने दीवार मैं 10 किले ठोकी है और ऐसे करते करते हैं बच्चा बहुत ही कम किलो पर आ गए.

भाई धीरे-धीरे अगले कुछ दिनों में अपने स्वभाव और अपने गुस्से पर नियंत्रण करने लगा और उसने वहां पर अनुभव किया कि दीवार में किले ठोकने कि की वजह अपने गुस्से को नियंत्रण करना आसान काम था.

Short motivational story

और कुछ दिन बाद ऐसा समय कि उस लड़के ने दिन में एक भी  किल दीवार में नहीं ठोकी  और पूरे दिन अपना आपा नहीं खोया और अपने स्वभाव को शांत रखा. यह खबर उस लड़के ने अपने पिताजी को सुनाएं पिता ने सुझाव दिया कि लड़के को आपको हर दिन कील बाहर खींचनी चाहे जो उसने अपने नियंत्रण में रखी थी.

कुछ दिन बाद बहुत प्रयास करने पर उस लड़के ने दीवार से उन सभी के लोगों निकाल लिया और यह बात अपने पिताजी को बताएं.

लड़के के पिताजी ने उस लड़के को उस दीवार के पास ले गया और कहां बच्चा आपने बहुत अच्छा किया किले निकाल दे लेकिन इन किले से जो छेद हुए हैं इनको आप नहीं भर सकते है.

इसलिए जीवन में जब भी आप गुस्सा करते हो यह गुस्से में बात कहते हो तो इस तरह से एक निशान छोड़ देते हैं.  आप एक आदमी में चाकू डाल सकते हैं  और इसे निकाल सकते हैं इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि आपने कितनी बार कहते हैं मुझे खेद है घाव अभी भी है.

Moral this motivational story

इस मोटिवेशनल स्टोरी से हमें प्रेरणा मिलती है,कि जीवन में गुस्सा नहीं करना चाहिए और किसी भी परिस्थिति में अपना आपा नहीं होना चाहिए. अपने स्वभाव को हमेशा शांत रखना चाहिए और गुस्से में किसी को कुछ कहने से बचना चाहिए.

क्योंकि गुस्सा एक ऐसी चीज है जो आपका संबंध खराब कर सकता है और अगर आप इसे  नियंत्रण नहीं करते हैं, तो यह आपका जीवन भी बर्बाद कर सकता है इसलिए जीवन में आगे बढ़ने और कामयाब होने के लिए अपने स्वभाव  को शांत रखिए.

3. Motivational story ( शिकायत करने में समय बर्बाद मत करों )

एक बार एक गांव में एक सफल और बुद्धिमान व्यक्ति रहता था वहां के लोग सभी समस्याओं के बारे में बुद्धिमान व्यक्ति से शिकायत करते थे और यह बात अजीब थी कि वह लोग एक की समस्या यह बार-बार उसी समस्या के बारे में शिकायत करते हैं.

एक-एक दिन बुद्धिमान व्यक्ति ने उन सभी लोगों को एक सबक सिखाने का प्लान बनाया, और वह बोला की मैं आपको एक चुटकुला सुनाने जा रहा हूं. बुद्धिमान व्यक्ति ने चुटकुले सुनाया और सभी हस्सी मजाक के साथ घूमते रहे कुछ समय बाद फिर उस व्यक्ति ने उन लोगों को वही चुटकुला सुनाया इस बार आधे लोग हस्से, फिर कुछ समय बाद वही चुटकुला उस बुद्धिमान व्यक्ति ने दोहराया लेकिन इस बार कोई भी व्यक्ति हस्सा या मुस्कराया नहीं.

तब वह बुद्धिमान व्यक्ति हसने लगा और बोला कि जब आप एक ही चुटकुले पर बार-बार नहीं हस सकते हैं तो फिर हमेशा एक ही समस्या के बारे में क्यों शिकायत करते रहते हैं, क्यों रोते रहते हैं. और कहां कि अपना समय बर्बाद करना बंद करो और शिकायत करने की वजह अपनी खुद की जिम्मेदारी को समझो और जीवन में आगे बढ़ो यही सफलता का राज है.

Moral this motivational story

यह motivational story हमको यह सिखाते हैं, कि जीवन में शिकायत करने से कुछ नहीं होता बल्कि इससे आपका समय और जीवन बर्बाद ही होता है. इसलिए शिकायत करने की वजह अपने आप को एक जिम्मेदार व्यक्ति के रूप में पेश कीजिए। और दुनिया के सामने सफल व्यक्ति के रूप में अपनी पहचान बनाए.

4.संघर्ष व्यक्ति को मजबूत बनाता है ( Best 5 motivational story hindi )

एक बार एक व्यक्ति को तितली मिली जो अपना कोकून से हैच करना शुरू कर रही थी, वह आदमी बैठ गया और तितली को घंटो तक देखता रहा.  क्योंकि यह एक छोटे से छेद के माध्यम से खुद को मजबूत करने के लिए संघर्ष कर रही थी.

और छोटे से छेद से बाहर आने के लिए तितली प्रयास कर रही थी फिर अचानक कुछ समय बाद प्रगति करना बंद कर दिया और ऐसा लग रहा था कि यह अटक गया यानी कि तितली ने हलचल करना बंद कर दिया था.

इसलिए आदमी ने तितली की मदद करने का फैसला लिया। उसने 1 जोड़ी कैसी ली और बचे हुए कोकून को काट दिया तितली भी आसानी से बाहर आ गई लेकिन इसमें एक सूझा हुआ शरीर और छोटे शिकडू हुए पंख थे जो तितली के उड़ने के लिए पर्याप्त नहीं थे।

उस आदमी ने इसके बारे में कुछ नहीं सोचा वही तितली के समर्थन के लिए पंखों के विस्तार के लिए इंतजार कर रहा था।

हालांकि ऐसा कभी नहीं हुआ। तितली ने अपना जीवन रेंगते हुए और अपने सुजे हुए शरीर के साथ बिताया और हमेशा वह तितली उड़ने में असमर्थ रहीं।

वह आदमी यह नहीं समझ पाया कि वह तितली खुद की मेहनत से बाहर निकलती तो उसके पंख मजबूत होते और उसका शरीर मजबूत होता वह उड़ने में समर्थ होती। क्यों की यह तरीका था जिससे वह उड़ान भरने में समर्थ होती।

Moral this story

यह कहानी हमको यह सिखाती है कि संघर्ष करने से ही नहीं व्यक्ति मजबूत होता है और जीवन में सफल होता है। और अपने लक्ष्य को पाने में सफल होता है। क्योंकि जवाब मुश्किलों के समय संघर्ष करते हैं तो वही आपको महान और मजबूत इंसान बनाता है।

5. तनाव से दूर रहो ( Best 5 motivational story hindi )

 एक बार एक साइकोलॉजिक के प्रोफेसर छात्रों को पढ़ रहा था जिसमें टॉपिक तनाव यानी स्ट्रेस को कैसे हैंडल किया जाए इसके बारे में कक्षा में सिद्धांत बताए जा रहे थे.

उस मनोविज्ञान के प्रोफेसर ने एक गिलास पानी उठाया सभी छात्र यह सोचने लगे कि हमसे आधा गिलास खाली यादा गिलास भरा के बारे में प्रश्न पूछा जाएगा लेकिन मनोविज्ञान के प्रोफेसर ने यह प्रशन किया कि मैं कितना भारी पानी का गिलास पकड़ रहा हूं?

सभी छात्रों ने अलग अलग जवाब दिया किसने बोला 500ml पानी है किसने बोला 200ml पानी है सभी के अलग-अलग जवाब थे।

मनोविज्ञान के प्रोफेसर ने उत्तर दिया मेरे दृष्टिकोण से इस गिलास का पूर्ण बाहर कोई मायने नहीं रखता है। यह सब इस बात पर निर्भर करता है कि में गिलास को कितनी देर तक पकड़ता हूं। अगर मैं इस ग्लास को एक या 2 मिनट के लिए पकड़ता हूं,तो यह  मुझे हल्का लगेगा और इसको मैं 1 घंटे के लिए पकड़ता हूं तो यह  मुझे भारी लगने लगेगा और वही मैं इसे 1 दिन के लिए पकड़ता हूं तो मुझसे यह नहीं होगा मेरा हाथ सुन हो जाएगा और मुझे गिलास को छोड़ना पड़ेगा।

Short motivational story

कक्षा में उपस्थित सभी छात्रों ने सहमति से अपना सिर हिलाया मनोविज्ञान के प्रोफेसर ने अपनी बात जारी रखते हुए कहा कि जीवन में आपके तनाव और चिंता है पानी के इस गिलास  की तरह होती है। अगर आप तनाव के बारे में यह चिंता के बारे में कुछ देर सोचेंगे तो कुछ नहीं होगा लेकिन आप चिंताओं और तनावों के बारे में पूरे दिन सोचते रहेंगे तो आपका माइंड सुन हो जाएगा और आप अपने रास्ते से भटक जाएंगे और आप जीवन में कुछ भी करने के लायक नहीं रहेंगे।

Moral this motivational story

इस मोटिवेशनल स्टोरी से हमें यह प्रेरणा मिलती है कि तनाव के बारे में और चिंता के बारे में ज्यादा नहीं सोचना चाहिए यानी कि अपने जीवन में तनाव और चिंता से दूर रहना चाहिए अगर जीवन में कुछ परेशानी है तो कुछ समय के लिए तनाव में रहे बाकी जीवन में मस्त रहे नहीं तो आपका माइंड सुनो जाएगा और आप कुछ भी करने के लिए असमर्थ रहेंगे।

Conclusion

 उम्मीद करते है आपको Best 5 motivational story in hindi आपको पसंद आई होगी और आपको मोटिवेशन मिला और आप इन inspiring story से जरूर प्रेरित होए होंगे| दोस्तों हम सभी के जीवन में मोटिवेशन का होना बहुत ही जरूरी है इस लिए हमेशा मोटिवेशन स्टोरी कहानिया और सक्सेस कहानिया सुनते रहो और जीवन में आगे बडतो रहो| 

आपको पोस्ट अछि लगी हो तो लाइक और अपने दोस्तों के साथ शेयर करे और आपका कोई सवाल है तो कमेंट जरूर कीजिए| 

Wish you all the best in your life 

Thanks 

Related Articles

Leave a Comment