Home Power of positive thinking Power of positive thinking in hindi सकारात्मक सोच कि शक्ति

Power of positive thinking in hindi सकारात्मक सोच कि शक्ति

by Sonal Shukla
Power of positive thinking in hindi

Power of Positive Thinking in hindi के बारे में जानकारी देने वाले हैं जिससे कि आप अपने positive thinking के पॉवर से केसे आप अपने लक्ष्य, सपने को पूरा कर सकते हैं.

हम सभी जानते है की positive thinking की power वह होती है, जो निराशा में भी एक उजाला दिखाती है, अंधकार में प्रकाश करनी सकारात्मक सोच से आप दुनिया के हर काम को पूरे कर सकते हैं.

दोस्तों हमारी सोच पर अपना नियंत्रण होता है अब आप तय करें कि आप को सकारात्मक सोचना है या नकारात्मक यह आपके ऊपर डिपेंड करते हैं. इस लेख में हम आपको बताएंगे कि केसे अपनी positive thinking के आधार पर आप एक अच्छे ओर सफल इंसान बंद कर सकें.

उससे पहले में आपको बता दूं की हमारे पास दो तरह के सोच विचार होते हैं, यानी हम कहे सकते हैं हमारे देखने, करने ओर सोचने का दो नजरिया होता है, एक positive ओर दूसरा नगेटिव ओर यही आधार है हमारी ज़िन्दगी का इसी के आधार पर हमारे शरीर भविष्य आदि का निर्माण होता है.

Power of subconscious mind hindi

बड़े लक्ष्य को कैसे हासिल करे

The power of positive thinking in hindi

जैसा हम सोचते हैं वैसा हम बन जाते हैं यानी कि जैसा हमारा विचार होगा वेसा ही हमारा आचरण होगा यह पूरी तरह आपके ऊपर निर्भर करता है, कि आप अपने जीवन यानी अपने मस्तिष्क में केसे बीज बोते हैं.

उसी के आधार पर आपको फल मिलेंगे। जिस तरह से घोर अंधेरे में एक दीपक प्रकाश कर देता है ठीक उसी प्रकार आपका एक पॉजिटिव विचार आपके कहीं नकारात्मक विचारों को खतम कर देता है.

आपको एक बात जरूर ध्यान रखना चाहिए नाकारात्मकता को कभी भी नकारात्मकता समाप्त नहीं कर सकती है इसको तो केवल सकारात्मकता ही समाप्त कर सकती है.

इस लिए आपको हर समय यह ध्यान रखना चाहिए कि जब भी कोई नेगेटिव विचार आए या नेगेटिव लोग आए उनको तुरंत नकार देना चाहिए और अपना ध्यान पॉजिटिविटी पर देना चाहिए. नेगेटिव लोगों और सोच आपको आपके लक्ष्य से भटकाने का काम करते हैं, इस लिए इस प्रकार के लोगों से दूर रहें जो नेगेटिव हैं.

What is positive thinking?

दोस्तो सकारात्मक सोच वह होती है जो आपको निराशा में आशा की किरण दिखाती है, अंधेरे में रोशनी दिखाती है, और बुरे वक़्त में आशा की किरण दिखाती है. ओर इन्हीं positive thinking के आधार पर हम बहुत बड़ा काम कर जाते हैं, positive thinking को आधाार पर आप हर क्षेत्र में सफल हो सकते हैं.

इस दुनिया में बहुत सारे ऐसे इतिहासकार हुए हैं जिन्होंने अपनी Positive Thinking के आधार पर इतिहास रच डाले है. जैसे दुनिया के सबसे बड़े अविष्कार थॉमस अल्वा एडीसन जिनके अंदर एक पॉजिटिव एनर्जी थी कि वह एक दिन लाइट से चलने वाले बल्ब का अविष्कार करेंगे.

क्या आप को पता है कि वह एक बल्ब बनाने में नो हजार नौ सौ बार फैल हुए हैं लेकिन उनको विश्वास था ओर पॉजिटिव विचार के साथ वह दस हजार बार में उन्होंने बल्ब का अविष्कार कर दिया है.

यह ताकत होती है एक पॉजिटिव विचार में इस लिए आपको भी कभी भी अपने दिमाग से positive thinking को नहीं जाने देना है जब तक आप सफल नहीं हो जाते हैं.

पॉजिटिव thinking हमारे शरीर में ऊर्जा का निर्माण करती है और नेगेटिव थिंकिंग हमारे शरीर में ऊर्जा का हास करती हैं.

Power of positive thinking in hindi

सकारात्मक सोच के अंदर वह शक्ति होती हैं जो मुश्किल काम को भी आसान कर देती हैं यह दुनियां भी पॉजिटिव एनर्जी के साथ ही चल रही है. आप माने या ना माने लेकिन हम सभी लोग ऊपर वाले पर विश्वास करते हैं, मांगते हैं, वह भी एक पॉजिटिव एनर्जी ही है जो हमें आशा देती है कि तुम कर सकते हैं.

इसका आपको एक साधारण उदहारण देता हूं, मान लीजिए आप ने कोई काम स्टार्ट किया ओर आप सोच रहे हैं कि में यह कर सकता हूं या नहीं, लेकिन कोई दूसरा व्यक्ति आपसे आकर बोलता है कि आप इसे बहुत अच्छी तरह से कर सकते हैं, आप कर सकते हैं तो आपके अंदर एक पॉजिटिव एनर्जी अा जाती है. जिससे आप नामुमकिन काम को भी मुमकिन कर देते हो, तो यही होती है power of positive thinking

How to get positive thinking

आपको पॉजिटिव एनर्जी या थिंकिंग में रहना बहुत जरूरी है क्यो की इसमें को पॉवर होती है उससे आप हर लक्ष्य को हासिल कर सकते हैं. अब हम बात करेंगे कि केसे पाए सकारात्मक सोच को तो मैं आपको कुछ सलाह देना चाहूंगा जिससे आप अपने जीवन में पॉजिटिविटी में बने रहे.

सबसे पहले तो आपको अपने मन से ही नकारात्मक विचारों, सोच को निकाल दें क्यो की दोस्तो अगर आपके अंदर ही नेगेटिविटी भरी हुई है तो कभी भी आप पॉजिटिविटी में नहीं रहे पाएंगे.

आपको ऐसा करने के लिए अपने विचारों पर ध्यान देना चाहिए, मानते हैं कि सभी के मन में नेगेटिव विचार भी आते हैं लेकिन उनको अपने अचेतन में जगह नहीं देनी है.

ओर दूसरा सबसे मुख्य तरीका है सकारात्मक सोच में रहने का, अच्छी किताबे पड़े, अच्छी पॉजिटिव thinking से रिलेटेड आर्टिकल्स पड़े, इससे आपको सकारात्मक सोच में रहने की प्रेरणा मिलती रहेगी तो आप का अवचेतन मन इसे स्वीकार करने लग जाता हैं.

Positive kaise rahe

इसके अलावा आप पॉजिटिव लोगों से मिलिए, ऐसे लोगों से मिलिए जिन्होंने में जीवन में कुछ बड़ा किया है, ऐसे लोगों से दूर रहें जो हमेशा शिकायत करते रहते हैं.

आपके आस पास का वातावरण पॉजिटिव होना चाहिए, यानी कि आप को ऐसी कम्युनिटी में रहना चाहिए जहां पर पॉजिटिव वातावरण हो आपको तनाव वाले माहुल को त्याग कर देना चाहिए. इससे आप हमेशा मोटिवेट रहोगे और आपके अंदर positive thinking की power बड़ने लगेगी.

Benefits of positive thinking ( power of positive thinking in hindi )

एक महान लेखक ने कहा है कि हर सोच आपके भविष्य का निर्माण करती है सकारात्मक सोच एक इसी शक्ति है जो आपकी ज़िन्दगी बदलने के लिए काफी है.

दोस्तो सकारात्मक सोच के बहुत फायदे होते हैं जैसे कि शारीरिक फायदे क्यो की आप एक पॉजिटिव थिंकिंग के आधार पर अपने शरीर को स्वस्थ रख सकते हैं.

Positive Thinking आपके जीवन को हर तरह से इंप्रूव करती हैं, इसके लिए आपको अपने अंदर सकारात्मक सोच लानी होगी, कोई भी सफल व्यक्ति को देख लो हर सफल व्यक्ति कितनी भी मुश्किल हो वह हमेशा पॉजिटिव रहता है, क्यो की यही एक ऐसी किरण है जो आपको कामयाबी की बुलंदियों पर ले जाती हैं.

सकारात्मक सोच और नकारात्मक सोच में अंतर

यहां पर में आपको बताऊंगा कि सकारात्मक सोच और नकारात्मक सोच में क्या अंतर होता है एक टीचर ने दो लड़कों को बुलाया और उनके सामने एक आधे पानी का गिलास रखा अब दोनों से पूछा कि आपको क्या दिख रहा है.

एक लड़के ने जवाब दिया कि गिलास आधा खाली है, ओर दूसरे ने जवाब दिया कि गिलास आधा भरा है, अब दोस्तो पानी एक है गिलास एक है, लेकिन दोनों की सोच नजरिया अलग अलग है, एक नेगेटिव सोच रहा है तो वहीं दूसरा पॉजिटिव सोच रहा है.

Power of positive thinking in hindi

दूसरा उदाहरण- एक बार जूते के मालिक ने अपने मैनेजर को एक ऐसी जगह भेजा है जहां वह अपने जूते बेचना चाहता था, जब मैनेजर उस इलाके में गया तो वहां देखकर हैरान रह गया है कि यहां तो कोई जूते चपल ही नहीं पहनते हैं. यहां केसे व्यवसाय होगा और वह अा गया ओर मालिक को पूरी बात बताई.

उसके बाद मालिक ने दूसरे मैनेजर को उस इलाके में भेजा, जब वह दूसरा मैनेजर उस इलाके में पहुंचा तो वह देखकर खुशी के मारे नाचने लगा और बोला यहां तो कोई जूता नहीं पहनता है. तो सभी जूते चपल यही बिकेंगे ओर यही बात आकर उसने मालिक को बताई मालिक खुश हो गया और उसे काम पर रख लिया.

अब आप बताइए कि Positive Thinking में कितना powar होता है इस लिए दोस्तो आपको भी हमेशा पॉजिटिव ही सोचना चाहिए और अपने जीवन में आगे बढ़ते रहना चाहिए.

conclusion 

फ्रेंड्स positive thinking ही है जो आपके भविष्य का  करती है, इस लिए हर क्षेत्र, हर वातावरण,और हर स्थति में आपको पॉजिटिव ही सोचना चाहिए.  दोस्तों में आपको बता दू की जो भी होता है सभी अच्छे  ही होता लेकिन इस बात पर निर्भर करता है की आपकी सोच किसी है.

अगर आप पॉजिटिव सोचते है तो आपके साथ अच्छा होता है, और आप नेगेटिव सोचते है तो आपके साथ बुरा ही होगा यही पावर है positive thinking है.

Related Articles

Leave a Comment